उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारी के क्रम में प्रदेश के 74 जिलों में विचार संगोष्ठी (प्रबुद्धजन सम्मेलन) कर चुकी बहुजन समाज पार्टी अब मंगलवार को लखनऊ में प्रबुद्धजन को टटोलेगी। बसपा मुखिया मायावती लम्बे अंतराल के बाद मैदान में उतरकर बसपा की विचार संगोष्ठी को संबोधित करेंगे। मायावती 2019 लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार पहली बार सार्वजनिक कार्यक्रम के मंच पर मौजूद रहेंगी।

लखनऊ में बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश कार्यालय में होने वाली इस विचार संगोष्ठी (प्रबुद्धजन सम्मेलन) को बसपा मुखिया की सोशल इंजीनियरिंग भी माना जा रहा है। लखनऊ में आज वह ब्राह्मणों से संवाद करेंगी। इससे पहले प्रदेश के 74 जिलों में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव तथा राज्यसभा सदस्य सतीश चंद्र मिश्र प्रबुद्धजन सम्मेलन कर चुके हैं। लखनऊ के सम्मेलन को उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री तथा बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती संबोधित करेंगी। बसपा प्रदेश मुख्यालय में प्रदेश भर से ब्राह्मण समाज के प्रतिनिधि जुटेंगे।

उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण समाज को रिझाने के लिए बहुजन समाज पार्टी के अब तक चल रहे प्रयासों में अब एक जोर खुद पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती भी लगाएंगी। बसपा उत्तर प्रदेश की सत्ता के लिए सोशल इंजीनियरिंग का सूत्र फिर आजमाने के लिए अब तक 74 जिलों में प्रबुद्धजन सम्मेलन कर चुकी है। आखिरी सम्मेलन मंगलवार को लखनऊ में पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में होगा, जिसमें पार्टी की मुखिया मायावती भी मौजूद रहेंगी।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »