केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि सितंबर में भारत सरकार को भारतीय कंपनियों द्वारा निर्मित 26 करोड़ वैक्सीन डोज़ मिले। वैक्सीनेशन का कार्य भी लगातार बढ़ रहा है। अगले महीने अक्टूबर में हमें 30 करोड़ से अधिक डोज़ मिलने की संभावना है। उसके बाद प्रोडक्शन और भी बढ़ेगा। चौथे क्वार्टर में हम वैक्सीन मैत्री कार्यक्रम को भी आगे बढ़ाएंगे। चौथे क्वार्टर में हम वैक्सीन मैत्री के तहत दुनिया को भी मदद करेंगे। अगले तीन महीनों में 100 करोड़ से अधिक खुराक मिलेगी। देश में अब तक 81 करोड़ से अधिक खुराक लगाई गई है। पिछली 10 करोड़ खुराक में केवल 11 दिन लगे। हमारे अपने नागरिकों का टीकाकरण सर्वोच्च प्राथमिकता है। ‘वैक्सीन मैत्री’ के लिए अक्टूबर-दिसंबर में सरप्लस टीकों का निर्यात किया जाएगा। खुद की जरूरतें पूरी करने के बाद कोवैक्‍स (COVAX) में योगदान किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि टीकों की अधिशेष आपूर्ति का उपयोग कोविड-19 के खिलाफ सामूहिक लड़ाई के लिए दुनिया के प्रति भारत की प्रतिबद्धता को पूरा करने के लिए किया जाएगा। कोवैक्‍स का सह-नेतृत्व गेवी, कोवलेशन फॉर एपिडेमिक प्रिपेयर्डनेस इनोवेशन (CEPI) और डब्‍लूएचओ (WHO) कर रहे हैं।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »