BIG BREAKING…यूपी TET की परीक्षा कैंसिल:एग्जाम शुरू होते ही पर्चा वायरल, मेरठ -प्रयागराज से 7 गिफ्तार, सॉल्वर गैंग से जुड़े छात्र भी हिरासत में
उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UP TET) 2021 का पर्चा लीक होने की वजह से परीक्षा रद्द कर दी गयी है। यह पर्चा सोशल मीडिया पर गाजियाबाद, मथुरा, बुलंदशहर में वायरल हो रहा था। एग्जाम सेंटर के बाहर अफरातफरी का माहौल है। छात्रों में गुस्सा है।
उत्तरप्रदेश के एडीजी लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार ने बताया है कि मेरठ और प्रयागराज से 7 लोगों को पकड़ा गया है। इनके फोन से पेपर शेयर हो रहे थे। इसमे कुछ चिन्हित सॉल्वर गैंग के सदस्य हैं। पश्चिमी यूपी के कई जिलों में धरपकड़ चल रही है। पेपर कैंसिल कर दिया है।
एसटीएफ शामली जिले से तीन युवकों को गिरफ्तार किया है। एक युवक को मेरठ से गिरफ्तार किया है। प्रयागराज से दो युवकों को गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी के अनुसार यह पेपर फोटो खींचकर मोबाइल पर वायरल किया गया। प्रयागराज में एसटीएफ प्रयागराज ने सॉल्वर गैंग के 20 से अधिक युवकों को अलग-अलग स्थानों से हिरासत में लिया है।
पर्चा रद्द होने की जानकारी 10 बजे के बाद उस समय सामने आई जब छात्रों को परीक्षा हाल में पेपर बंट चुका था। वे अनेक सवालों के जवाब ओएमआर शीट में भर चुके थे। बीच परीक्षा में उन्हें बताया गया है कि परीक्षा कैंसिल कर दी गई है।
हालांकि लखनऊ,आगरा, मुजफ्फरनगर सहित कई शहरों में अभी भी परीक्षां चल रही हैं। कई सेंटर्स पर परीक्षा रद्द होने की जानकारी नहीं पहुंची है।
महीने भर बाद होगी परीक्षा
एक महीने बाद दोबारा परीक्षा होगी। एसटीएफ पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है। अभ्यर्थियों को दोबारा फीस नहीं देनी होगी। इस बार UP-TET में 21 लाख 65 हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। छात्रों का कहना है कि सरकार इतनी बड़ी परीक्षा में फेल रही है। ये छात्रों के साथ धोखाधड़ी है।
TET की परीक्षा दो पालियों में होनी थी। पहली पाली में सुबह 10 से 12.30 बजे के बीच प्राथमिक स्तर और दूसरी पाली दोपहर 2.30 से 5 बजे के बीच उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा होनी थी। पहली पाली में 2554 केंद्र और दूसरी के लिए 1754 केंद्र बनाए गए थे। प्राथमिक स्तर में 1291628 और जूनियर स्तर में 873553 अभ्यर्थी को शामिल होना था।
पहली बार लाइव CCTV सर्विलांस की व्यवस्था थी, लेकिन….
TET में पहली बार लाइव CCTV सर्विलांस की व्यवस्था की गई थी। इसका मकसद हर हाल में बिना नकल के परीक्षा कराना था, हालांकि इस दावे की धज्जियां महज घंटे भर के अंदर उड़ गईं। इसे हर परीक्षा केंद्र पर एक्टिव किया गया था। इसकी मॉनिटरिंग लखनऊ में हो रही थी।
दावा किया गया था कि यदि किसी भी परीक्षा केंद्र पर किसी तरह की गड़बड़ी की गई तो वह फौरन पकड़ में आ जाएगी। हालांकि, इस सब से पहले ही परीक्षा का पर्चा लीक होने से उसे कैंसिल करना पड़ा।
एक नजर यूपी TET पर
उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET) 2021 के लिए ऑनलाइन आवेदन 7 अक्टूबर 2021 से आमंत्रित किए गए थे।
इसमें पंजीकरण की अंतिम तिथि 25 अक्टूबर थी।
प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा को मिलाकर कुल 21,65,181 अभ्यर्थियों को शामिल होना था।
2019 में आए थे 16 लाख आवेदन, कोरोना महामारी के कारण 2020 में एग्जाम नहीं हुआ।
पहली बार 12 नवंबर 2011 को यूपी में TET कराई गई थी।

अनिल चौधरी

वरिष्ठ ब्यूरो चीफ उत्तर प्रदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »