गोरखपुर पिपराइच थाना क्षेत्र के एक गांव की निवासी रविवार को फंदे से लटककर आत्महत्या कर ली थी घटना की सूचना प्राप्त होते ही पुलिस अधीक्षक उत्तरी मनोज कुमार अवस्थी धटना स्थल पर पहुच कर लड़की का पंचनामा करा कर पोस्टमार्टम कराया था। आज सोमवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. गौरव ग्रोवर व पुलिस अधीक्षक उत्तरी मनोज कुमार अवस्थी मृतक लड़की के घर पहुंचकर परिवारजनों से घटना के कारण का पता लगाने की कोशिश की एसएसपी ने बताया कि मृतक की मां ने बताया कि उक्त व्यक्ति हमारे लड़की को आए दिन परेशान किया करता था लेकिन हमारे द्वारा गलती हुआ कि पुलिस को इसकी सूचना नहीं दी अगर पुलिस को सूचना दी होती तो आज हमारी लड़की हमारे सामने होती यह कदम नहीं उठाती और पुलिस उक्त व्यक्ति के ऊपर कठोर कार्यवाही की होती वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उपरोक्त व्यक्ति के ऊपर सुसंगत धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
पिपराइच इलाके के एक गांव का है। जहां एक हिस्ट्रीशीटर की हरकत से 13 वर्षीय किशोरी ने रविवार की सुबह फंदे से लटककर खुदकुशी कर ली। किशोरी की मां के अनुसार हिस्ट्रीशीटर करीब एक महीने से बेटी को परेशान कर रहा था। स्कूल आते-जाते छेड़खानी करता था, लगातार हो रही उसकी हरकतों से बेटी परेशान थी। आगे कहती है कि उसने सब ठीक होने का भरोसा दिलाया और समझाया भी था, लेकिन वह छेड़खानी से त्रस्त और आहत थी कि उसने खुदकुशी कर ली। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. गौरव ग्रोवर व पुलिस अधीक्षक पुत्री मनोज कुमार अवस्थी आज पीड़ित के घर पहुंच कर तथ्यों की जानकारी इकट्ठा करने की कोशिश की एसएसपी ने बताया कि लड़की की मां ने बताया कि उक्त व्यक्ति हमारी लड़की को बार-बार परेशान करने का कार्य करता था लेकिन हमारे द्वारा गलती हुई कि इस बात की जानकारी थाने पर किसी को सूचना नहीं दी अगर सूचना दी होती तो उक्त व्यक्ति के ऊपर पुलिस द्वारा कार्रवाई किया गया होता और हमारी लड़की इतना बड़ा कदम नहीं उठाती जिसका हमें पछतावा सदैव रहेगा।
तहरीर के आधार पर पुलिस ने आरोपी हिस्ट्रीशीटर अच्छेलाल के खिलाफ नाबालिग को खुदकुशी के लिए उकसाने, छेड़खानी और धमकी देने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
आरोपी हिस्ट्रीशीटर अच्छेलाल के खिलाफ दुष्कर्म के अलावा लूट, जालसाजी, चोरी जैसे 18 मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस की फाइलों में वह हिस्ट्रीशीटर है और दुष्कर्म के आरोप में भी जेल जा चुका है। करीब एक साल पहले ही जमानत पर जेल से बाहर आया है। एक बार फिर किशोरी को खुदकुशी के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज किया जा चुका है। ऐसा बताया जा रहा है कि वह कम उम्र की लड़कियों को प्रेम जाल में फंसाकर शारीरिक शोषण करने में महारत हासिल है। चार साल पहले भी एक नाबालिग को अपनी हवस का शिकार बना चुका है।

रिपोर्ट ज्योति पासवान

सर्वोच्च दर्पण न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »