संवाददाता: प्रशिकान्त उर्फ सन्दीप गौतम

इटावा: एशिया के प्रथम ब्लॉक महेवा के अंतर्गत ग्राम गोपियापुर निवासी श्रद्धेय भगवत दयाल दोहरे का आज रात्रि हृदय गति रुकने से आकस्मिक निधन हो गया है। भगवत दयाल दोहरे का जन्म 1953 में एक साधारण परिवार में हुआ था। उन्होंने विषम परिस्थितियों से संघर्ष करते हुए अपनी शिक्षा पर विशेष ध्यान दिया। और लगातार उन्नति की ओर अग्रसर होते हुए तहसीलदार के पद पर आसीन हुए। उन्होंने अपने सेवाकाल के दौरान पूरी निष्ठा, लगन और ईमानदारी का परिचय दिया। और 2013 में तहसीलदार के पद से सेवानिवृत हुए। अभी हाल ही में अचानक उनका स्वाथ्य ख़राब हुआ,तत्पचात उन्हें कानपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां चिकित्सकों ने उनके हृदयाघात होने की जानकारी दी। अंततः कानपुर के निजी अस्पताल में ही उन्होंने अपने जीवन की अंतिम सांस ली।
श्रद्धेय भगवद दयाल के तीन पुत्र राजेश कुमार,सुनील कुमार (पिंटू), बृजेश कुमार एवं एक पुत्री मंजू है। पूरा परिवार खुशहाली का जीवन व्यतीत कर रहा था लेकिन अचानक पिता की मृत्यु से परिवार अश्रुमय हो गया। अंतिम संस्कार बौद्ध रीति से सम्पन्न कराया गया।
इस दौरान बसपा प्रत्याशी कमलेश अम्बेडकर, सपा नेता राघवेंद्र गौतम, सन्दीप गौतम, रोहित गौतम, कमलेश कठेरिया, डॉ अनिल गौतम, जे पी दोहरे, संजीव दोहरे, श्री कृष्ण, अंकित दोहरे, अमित अम्बेडकर सहित सैकड़ों लोग श्रद्धेय भगवत दयाल दोहरे के अंतिम संस्कार में शामिल हुए।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »