कारगिल शहीद मानसिंह यादव की तीन बेटियों में सबसे बडी़ बेटी हैं डॉक्टर आरती यादव| सुल्तानपुर जिले के हयातनगर निवासी शहीद मानसिंह यादव कारगिल युद्ध में 24 जुलाई 1999 को दुश्मनों से लोहा लेते हुए वीरगति को प्राप्त किए थे| कारगिल शहीद मानसिंह यादव की बड़ी बेटी आरती यादव के सिर से बचपन में साया उठ गया मा विद्यावती देवी ने विषम परिस्थितियों में पालन पोषण किया कठिनाइयों का सामना करना पड़ा पिता के नाम पर पेट्रोल पम्प भी सीज हुआ आर्थिक चुनौतियों का सामना भी करना पड़ा लोगों ने हतोत्साहित करने का भी प्रयास किया लेकिन डॉक्टर आरती यादव ने ठान लिया था कि वह अपनी मेधा का लोहा मनवाकर ही रहेंगी कई बार असफलता लगने के बाद भी अपने लक्ष्य से नहीं डिगी और अन्ततः 2017 में शहीद कोटे से चयनित होकर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा दिया और पण्डित मोतीलाल नेहरू मेडिकल कालेज इलाहबाद में प्रवेश लिया और अनवरत अध्ययन जारी रखा और 4 साल 6महीने के कठिन परिश्रम के साथ ही परीक्षा उत्तीर्ण करते हुए आज आधिकारिक तौर पर डॉक्टर आरती यादव बन गई हैं| गाँव की लाडली बेटी के डाक्टर बनने पर क्षेत्र और जनपद में खुशी का माहौल हैं डॉ.आरती यादव शहीद मानसिंह की तीनों बेटियों में सबसे बड़ी हैं समाजिक न्याय मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष कुलदीप यादव जनवदी ने कहा आरती यादव के डाक्टर आरती यादव बनने पर हम सभी काफी खुशी हैं कि शहीद मानसिंह यादव के सपनों को साकार किया है उनकी लाडली बेटी ने| वहीं बधाईयां देने की भी होड़ लगी हैं समाजिक न्याय मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष संतोष यादव पीतांबर सेन ,एड् भानू प्रताप यादव ,कायम चांद मेहदी ,शेर सिंह यादव ,विनोद यादव ,डा आर एस यादव , राजेश वर्मा, हंसराज यादव ,अमर सिंह ,परमदेव यादव ,रिकू यादव, विजय सेन यादव ,वीरेंद्र यादव ,सहित सैकडों लोगो ने बेटी के डाक्टर बनने पर बधाइयां व शुभकामनाएँ दी हैं|

By ब्रिजेश यादव

सर्वोच्च दर्पण सहायक ब्यूरो चीफ आजमगढ़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »