विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर लोगों से धोखाधड़ी कर अवैध रुप से धन अर्जित करने वाले अन्तर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश, पीड़ित व्यक्तियों के 3,50,000/- रु0 नगद, पीडितो के 27 अदद पासपोर्ट, 02 अदद लग्जरी चार पहिया वाहन, मोबाईल फोन, मुहर, कम्प्यूटर,बीजा एवं आफर लेटर आदि के साथ 06 शातिर ठग गिरफ्तार-

श्रीमान् पुलिस अधीक्षक कुशीनगर श्री धवल जायसवाल के निर्देशन में व अपर पुलिस अधीक्षक श्री रितेश कुमार सिंह के पर्यवेक्षण व क्षेत्राधिकारी सदर श्री कुन्दन सिंह के नेतृत्व में साइबर अपराध की हो रही घटनाओं की रोकथाम हेतु चलाये जा रहे अभियान के क्रम में आज दिनांक 17.09.2022 को थाना को0 पडरौना व साईबर की संयुक्त टीम द्वारा जनपद के भिन्न भिन्न स्थानों से 06 अन्तर्राज्यीय साईबर ठग क्रमशः1.अमजद करीम पुत्र स्व0 मो0 रज्जा खान निवासी बघौचघाट टोला बजरहा थाना बघौचघाट देवरिया, 2.असरफ पुत्र स्व0 खलील निवासी हरपुर बेलही थाना पटहेरवा जनपद कुशीनगर, 3.राजेश कुमार शाह पुत्र स्व0 दीनानाथ शाह सा0 शीतल चौराहा पोस्ट राजापुर थाना कटिया जिला गोपालगंज बिहार, 4. सोनू आलम उर्फ शहबाज आलम पुत्र जैनूल सा0 धौरहरा थाना पटहेरवा जनपद कुशीनगर, 5.आशिक अंसारी पुत्र मुंशी अंसारी सा0 सोहन थाना तुर्कपट्टी जनपद कुशीनगर, 6.कलामुद्दीन अंसारी पुत्र अकबर अंसारी सा0 नगर पंचायत आफिस के पास फाजिलनगर थाना पटहेरवा जनपद कुशीनगर को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से अपराध से अर्जित पीडितों के 03 लाख 50 हजार रुपये नगद,02 अदद चार पहिया वाहन (महिन्द्रा बोलरों व हुण्डई वेन्यू कार) , 9 अदद मोबाईल फोन भिन्न-भिन्न कम्पनियों के, 41 अदद मोहर, 27 अदद पासपोर्ट ओरिजनल एवं 55 अदद फोटो कापी, 03 अदद कम्प्यूटर, 03 अदद प्रिन्टर, एक अदद स्कैनर, 14 अदद रसीद बुक, 8 अदद रजिस्टर, बीजा 34 अदद प्रिन्टेड, 62 अदद मेडिकल फिटनेस कागज, 52 अदद भिन्न भिन्न कम्पनियों का आफर लेटर, 100 अदद भिन्न भिन्न कम्पनियों का अनुभव प्रमाण पत्र, 13 अदद फोटो पेपर(सादर प्रिन्ट हेतु), 8 अदद एअर टिकट, 62 अदद रिजूम बायोडाटा, 26 अदद नौकरी हेतु आवेदन पत्र (भरा हुआ), 8 अदद एप्वाईन्टमेन्ट लेटर, 02 अदद सादा गल्फ टेक्निकल इंस्टिट्यूट का सर्टिफिकेट बरामद किया गया। बरामदगी व गिरफ्तारी के आधार पर थाना स्थानीय पर 522/202419,420,467,468,471,120बी, 504,506 भादवि व 66सी ,66डी आईटी एक्ट में अभियोग पंजीकृत कर अग्रिम विधिक कार्यवाही की जा रही है। श्रीमान् उपमहानिरीक्षक गोरखपुर परिक्षेत्र, गोरखपुर द्वारा 25000/- रुपये व श्रीमान् पुलिस अधीक्षक कुशीनगर द्वारा 25000/- रुपये का पुरस्कार भी पुलिस टीम को दिया गया।

अपराध का तरीका-
गिरफ्तार अभियुक्तों ने पूछताछ में बताया कि सबसे पहले हम लोग एक ऑफिस खोलते है एवं अलग-अलग क्षेत्रों में अपने एजेन्ट बनाते हैं। उसके बाद एक व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से सबको जोड़ लेते हैं। फिर विदेश में नौकरी हेतु अलग-अलग पदों के विज्ञापन ग्रुप में भेजते हैं। उस विज्ञापन के सापेक्ष एजेन्ट द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों से लोगों को विदेश में नामी गिरामी कम्पनियों में नौकरी दिलाने का विश्वास दिलाकर फार्म भरवाते हैं तथा अपने ऑफिस पर इण्टरव्यू के लिए बुलाते है एंव एजेन्ट के माध्यम से प्रति व्यक्ति 60 हजार रूपया जमा करवाते हैं। सभी व्यक्तियों को वीजा दिलाने हेतु सिक्योरिटी के तौर पर उनका पासपोर्ट जमा करवा लेते है। पुनः कुछ दिन बाद उन व्यक्तियों को अलग-अलग कम्पनियों में अलग-अलग पदों का ऑफर लेटर पर मुहर व हस्ताक्षर स्वंय के द्वारा बनाकर एजेन्ट के माध्यम से दिला देते है। इस ऑफर लेटर में अच्छी सैलरी का जिक्र किया जाता है। जिससे वह व्यक्ति एयर टिकट, मेडिकल फिटनेट व अनुभव सर्टिफिकेट जल्दी बनाने हेतु एजेन्ट के माध्यम से और पैसा जमा कर देता है। जिस व्यक्ति का मेडिकल फिटनेस व अनुभव सर्टिफिकेट का पैसा जमा हो जाता है उसको अपने ऑफिस से अलग-अलग कम्पनियों का अनुभव सर्टिफिकेट पर मुहर व हस्ताक्षर स्ंवय बनाकर उपलब्ध करा देते है। जब उस व्यक्ति द्वारा विदेश भेजने हेतु दबाव बनाया जाता है तो ओमान में रह रहे अपने भाई इम्तियाज खान के माध्यम से ओमान का विजीट/टूरिस्टर वीजा (अवधि 30 दिवस) मगवा कर उस व्यक्ति को विदेश भेज देते हैं। विदेश में पहुचने पर अपने भाई इम्तियाज के माध्यम से उस व्यक्ति को अनुभव सर्टिफिकेट के विपरीत मजदूरी में कुछ दिन काम दिला देते है। जब वीजा की अवधि पूरी हो जाती है तो उस व्यक्ति को यह बता दिया जाता है कि अब काम नहीं है। कुछ व्यक्ति मन के अनुरूप काम न मिलने, कुछ व्यक्ति को यह पता चलने कि वह टूरिस्ट वीजा पर आये है जिसकी अवधि केवल 30 दिन है तथा कुछ काम न मिलने या काम समाप्त हो जाने के कारण खुद ही अपने घर वापस आने हेतु तैयार हो जाते है तथा वापस आने का खर्च स्वंय वहन करते है और इस तरह हम लोगों द्वारा पूर्व लिया गया पैसा वापस करने से बच जाते है।

गिरफ्तार अभियुक्त-
1.अमजद करीम पुत्र स्व0 मो0 रज्जा खान निवासी बघौचघाट टोला बजरहा थाना बघौचघाट देवरिया,

  1. असरफ पुत्र स्व0 खलील निवासी हरपुर बेलही थाना पटहेरवा जनपद कुशीनगर,
    3.राजेश कुमार शाह पुत्र स्व0 दीनानाथ शाह सा0 शीतल चौराहा पोस्ट राजापुर थाना कटिया जिला गोपालगंज बिहार,
  2. सोनू आलम उर्फ शहबाज आलम पुत्र जैनूल सा0 धौरहरा थाना पटहेरवा जनपद कुशीनगर, 5.आशिक अंसारी पुत्र मुंशी अंसारी सा0 सोहन थाना तुर्कपट्टी जनपद कुशीनगर,
    6.कलामुद्दीन अंसारी पुत्र अकबर अंसारी सा0 नगर पंचायत आफिस के पास फाजिलनगर थाना पटहेरवा जनपद कुशीनगर

बरामदगी का विवरण-
1.पीडितों के 03 लाख 50 हजार रुपये नगद,
2.02 अदद चार पहिया वाहन (महिन्द्रा बोलरों व हुण्डई वेन्यू कार),
3.9 अदद मोबाईल फोन भिन्न-भिन्न कम्पनियों के,
4.41 अदद मोहर,
5.27 अदद पासपोर्ट ओरिजनल,
6.55 अदद फोटो कापी,
6.03 अदद कम्प्यूटर,
7.03 अदद प्रिन्टर,
8.एक अदद स्कैनर,
9.14 अदद रसीद बुक,
10.8 अदद रजिस्टर,
11.बीजा 34 अदद प्रिन्टेड,
12.62 अदद मेडिकल फिटनेस कागज,
13.52 अदद भिन्न भिन्न कम्पनियों का आफर लेटर,
14.100 अदद भिन्न भिन्न कम्पनियों का अनुभव प्रमाण पत्र,
15.13 अदद फोटो पेपर(सादर प्रिन्ट हेतु),
16.8 अदद एअर टिकट,
17.62 अदद रिजूम बायोडाटा,
18.26 अदद नौकरी हेतु आवेदन पत्र (भरा हुआ),
19.8 अदद एप्वाईन्टमेन्ट लेटर,
20.02 अदद सादा गल्फ टेक्निकल इंस्टिट्यूट का सर्टिफिकेट बरामद।

गिरफ्तारी/बरामदगी करने वाली टीम-
1.प्र0नि0 श्री राजप्रकाश सिंह थाना को0 पडरौना मय टीम जनपद कुशीनगर
2.निरीक्षक श्री मनोज कुमार पंत प्रभारी साईबर सेल जनपद कुशीनगर
3.प्रभारी निरी0 श्री आशुतोष कुमार सिंह थाना तुर्कपट्टी मय टीम जनपद कुशीनगर
4.उ0नि0 शरद भारती सर्विलांश सेल जनपद कुशीनगर
4.का0 चन्द्रभान वर्मा साइबर सेल कुशीनगर
5.का0 विजय चौधरी साइबर सेल कुशीनगर
6.का0 अनिल यादव साइबर सेल जनपद कुशीनगर
7.म0का0 नेहा यादव साइबर सेल जनपद कुशीनगर
8.का0 प्रशान्त कुमार मिश्रा साइबर सेल कुशीनगर

Translate »